Headlines News :
Home » » lal-kitab-1952-page-no-58

lal-kitab-1952-page-no-58

Written By Vaneet Nagpal on Friday, 17 July 2015   No comments


और जिस वक्त टेवे में असल मंगल के इलावा मसनूई (बनावटी) मंगल नेक (सूरज-बुध) या मसनूई मंगल बाद (सूरज-शनि) दोनों ही मौजूद हों तो नंबर 1 देखेगा नंबर 11 को |

A) जब नंबर 11 खाली हो तो नंबर 1 का ग्रह अपना असर करने के ताल्लुक में मेंढे या बुध की चल पर जैसा कि वह उस वक्त टेवे में हो चलेगा | इसी तरह यही जब खाना नंबर 8 खाली हो तो नंबर 10 वाले ग्रह की आँखों को रोकने के लिए कोई रूकावट न होगी और वह खुद ही अपनी आँखों से देख भाल करता होगा |

B) जब खाना नंबर 1 में ज्यादा ग्रह हों तो खाना नंबर 1 का मुंसिफ शुक्र होगा जैसा कि इस वक्त वह टेवे (खाना नंबर 1-ही) में हो |

Share this post :

Post a Comment

 
Support : Tips Hindi Mein | Vaneet Nagpal
Copyright © 2011. लाल किताब 1952 - All Rights Reserved
Template Created by Vaneet Nagpal Published by Tips Hindi Mein
Proudly powered by Blogger